Sanjay national park gk in hindi

Sanjay national park gk in hindi

Sanjay national park

Sanjay national park

इंग्लिश में पढ़िए 

संजय राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश के सीधी जिले में स्थित है।

सन् 1981 में स्थित यह राष्ट्रीय उद्यान बाघ, तेंदुआ, चीतल, सांबर, जंगली सूअर, नीलगाय, चिंकारा, सिवेट, साही, गोह और पक्षियों के तीन सौ नौ प्रजातियाँ होने का दावा करता है।

यह उद्यान मुख्यतः साल के पेड़ों से भरा पड़ा है। सन् 2000 में मध्य प्रदेश के विभाजन के बाद इसका काफ़ी भाग छत्तीसगढ़ राज्य के पास चला गया।

Sanjay national park

संजय राष्ट्रीय उद्यान की स्थिति

संजय टाईगर रिजर्व, विंध्‍य क्षेत्र का भाग है, जो जैवविविधता की द्दष्टि से बहुत समृद्ध है।

वन्‍यप्राणी प्रबंधन की दृष्टि से दक्षिणी व दक्षिण-पूर्वी क्षेत्र के वन महत्‍वपूर्ण हैं।

ये संजय दुबरी अभ्‍यारण्‍य व संजय राष्‍ट्रीय उद्यान के मध्‍य वन्‍यप्राणी पारगमन के लिए गलियारा उपलब्‍ध कराने के साथ-साथ संरक्षित क्षेत्रों के वन्‍यप्राणियों के संख्‍या में संभावित वृद्धि से उनके विस्‍तार हेतु संभावनायुक्‍त प्राकृतावास भी उपलब्‍ध कराते हैं।

पारिस्थितिकी प्रक्रियाओं एवं कार्यों को सुचारू रूप से चलाए रखने स्‍वच्‍छ निर्मल जल वनों का सर्वाधिक महत्‍वपूर्ण उत्‍पाद है।

क्षेत्र में सोन, गोपद एवं बनास जैसी बारहमासी नदियों के जलग्रहण क्षेत्र में हैं।

वर्षभर इन नदियों में स्‍वच्‍छ एवं शीतल जलधारा प्रवाहित होती रहे, इसके लिए इन वनों को अच्‍छी स्थिति में बनाए रखना अत्‍यन्‍त आवश्‍यक है।

Sanjay national park

इनके अतिरिक्‍त भी मवई, मोहन, नेऊर, बड़चड़, महान आदि सहायक नदियाँ एवं बड़ी संख्‍या में अन्‍य बड़े-छोटे नदी-नाले हैं, जिनमें वर्षभर पानी विद्यमान रहता है।

ये सब अंतत: सोन नदी में ही मिल जाते हैं। अत: सोन नदी में सतत्‍ जलधारा बहती रहने के लिए इसके आस-पास के वनों को सघन स्थिति में बनाए रखना अत्‍यन्‍त आवश्‍यक है।

क्षेत्र में गुफाएँ शैलाश्रय, माँद, खड्ड आदि पर्याप्‍त संख्‍या में हैं, जो वन्‍यप्राणियों का आश्रय उपलब्‍ध कराने में अपना महत्‍वपूर्ण योगदान देते हैं।

छायादार एवं खोखले वृक्षों में पक्षी अपना रहवास बनाते हैं। कार्य आयोजना के क्षेत्र में बड़ी नदियाँ एवं राजस्‍व एवं वन भूमि में कुछ बड़े बाँध एवं तालाब हैं, जो जलीय पारिस्थितिकी तंत्र के अंतर्गत मगरमच्‍छ व घडि़याल से ले कर विभिन्‍न प्रकार की मछलियों, उभयचरों, कीट, मोलस्‍क, नीमेटोड, सरीसृप, पक्षियों आदि को आश्रय प्रदान करते हैं।

Sanjay national park

संजय  राष्ट्रीय उद्यान में पाए जाने वाले जीव-जंतु

माँसाहारी 

बाघ, तेन्‍दुआ, भालू, लकड़बग्‍घा, लोमड़ी, सोनकुत्‍ता, भेडि़या, सियार, जंगली बिल्‍ली, जंगली सुअर

शाकाहारी 

चीतल, सांभर, नीलगाय, चिंकारा, बन्‍दर, मेड़की, खरगोश, सेही, चौसिंग, वनमुर्गी, मोर, नेवला

संजय राष्ट्रीय उद्यान इस तरह से पहुंचे 

1 – रेल मार्ग

जबलपुर, ब्यौहारी, सतना, रीवा

2 – सड़क मार्ग

रीवा से ब्यौहारी, इलाहाबाद से सीधी, सतना से ब्यौहारी

3 – वायु मार्ग 
इलाहाबाद, बनारस एवं जबलपुर

Mp ke khanij sansadhan part 2

BUY

Mp ke khanij sansadhan part 2

BUY

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
error: Content is protected !!